अपराधउत्तराखंडकर्मचारी वर्ग

हरिद्वार के रुड़की में सरकारी डॉक्टर सीटी स्कैन के फर्जीवाड़े में गिरफ्तार, जेल भेजा

सीएमएस ने गंगनहर कोतवाली में दर्ज कराया था मुकदमा

Listen to this article

देहरादून। हरिद्वार में पुलिस ने सीटी स्कैन रिपोर्ट के फर्जीवाड़े में सिविल अस्पताल में तैनात रहे एक डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। सीएमएस की ओर से तीन साल पहले इस मामले में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। आरोपी वर्तमान में खानपुर में तैनात था और गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार हो गया था।

सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने जून 2020 में गंगनहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। उन्होंने बताया था कि सिविल अस्पताल में सीटी स्कैन मशीन की रिपोर्ट को लेकर वाइटिल रेडियोलॉजी सर्विसेज नोएडा से करार है। संबंधित एजेंसी ही रिपोर्ट तैयार कर उपलब्ध कराती है। अस्पताल का कोई रेडियोलॉजिस्ट रिपोर्ट तैयार नहीं करता है। उनकी जानकारी में आया कि कुछ अज्ञात लोग एजेंसी से मिलने वाली रिपोर्ट में कूटरचना कर इसका मेडिकोलीगल में इस्तेमाल कर रहे हैं।

अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही थी। जांच में सामने आया कि आरोपी डॉक्टर बिरेन्द्र नौटियाल ने सिविल अस्पताल में अपनी तैनाती के दौरान 2019 और 2020 में पैसे लेकर फर्जी सीटी स्कैन और एक ही व्यक्ति के तीन-तीन मेडिकल बनाए। आरोपी वर्तमान में बतौर चिकित्सक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खानपुर में तैनात था। मामले में नाम सामने आने के बाद वह फरार हो गया था। इंस्पेक्टर ऐश्वर्य पाल ने बताया कि आरोपी बिरेन्द्र नौटियाल पुत्र महेन्द्र सिंह निवासी ग्राम भगतोवाली झबरेड़ा को धोखाधड़ी, आपराधिक षडयंत्र रचने की धाराओं में गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने आरोपी को 14 दिन न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है

Editor

प्रकाशमणि धस्माना (वरिष्ठ पत्रकार)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button